अगर आपने जान लिया शालग्राम की महिमा तो आप भी हो जाएँगे धन, वैभव एवं मोक्ष के अधिकारी | Importance of Shaligram

0
8600

क्या है शालग्राम एवं उसकी विशेषता 

shaligram-means-importance-significanceशालग्राम एक दिव्य और अनुपम काले रंग का पत्थर है एवं इसकी भगवान विष्णु के रूप में पूजा की जाती है | यह पत्थर नेपाल की गंडकी नदी के तल में पाया जाता है | यह पत्थर अंडाकार और चिकना होता है | शालग्राम के ऊपर कई प्रकार के चिन्ह अंकित ते है जैसे शंक, चक्र, गदा एवं पदम् | कुछ शालग्राम पत्थर के ऊपर चक्र के समान सफ़ेद रंग की धारियां होती है |

shaligram-means-importance-significanceपुराणों में यह स्पष्ट रूप से बताया गया है कि जिस घर में शालग्राम नहीं होता वह घर शमशान के समान होता है | पद्म्पुरान के अनुसार जिस घर में शालग्राम होता है वह घर समस्त तीर्थो के समान फल देने वाला होता है | महर्षियों ने यह तक कहा है कि शालग्राम के दर्शन मात्र से ब्रम्हहत्या के दोष से मुक्ती मिल जाती है | जो व्यक्ति भी शालग्राम की नियमित विधि पूर्वक पूजा करता है उसको समस्त भोगों का सुख प्राप्त होता है | शालग्राम को साड़ी श्रृष्टि के पालनहार श्री हरि विष्णु का प्रतीक माना जाता है |

shaligram-means-importance-significanceस्कंद्पुरान में भगवान शिव ने कार्तिक माहात्मय में शालग्राम के महत्व का वर्णन किया है | प्रत्येक कार्तिक मास की द्वादश तिथि को महिलाऐं तुलसी और शालग्राम का विवाह कराती है और नवीन वस्त्र एवं जनेऊ अर्पित करती है | सनातन हिन्दू परिवारों में तुलसी और शालग्राम के विवाह के बाद ही विवाहोत्सव आरम्भ होता है |

शालग्राम से किस तरह पा सकते है धन, वैभव एवं मोक्ष जानने के लिए नीचे नेक्स्ट बटन पर क्लिक करें 

Facebook Comments