क्या आप जानते है कि अन्न-जल ग्रहण करने के पूर्व क्यों लगाना चाहिए भगवान को भोग | Why We Offer Prasada To God

0
2554

क्यों चढ़ाते है भगवान को प्रसाद | 

food-offer-god

भगवान श्री कृष्ण ने स्वयं पवित्र ग्रंथ गीता के अध्याय ९ के श्लोक २८ में कहा है

यत्करोषि यदश्नासि यज्जुहोषि ददासि यात |

यत्तपस्यासि कौन्तेय तत्कुरुष्व मदर्पणम् ||

इसका अर्थ यह है कि हे मनुष्य ! तू जो भी खाता है और जो भी दान करता है या होम-यज्ञ करता है, तप करता है वह सर्वप्रथम मुझे अर्पित कर |

why-offer-food-god

हमें जो कुछ अन्न-जल प्राप्त होता है वह सब उसी करुणामय परमेश्वर की क्रपा से ही होता है | अतः उसके द्वारा प्राप्त प्रत्येक वस्तु उसी ईश्वर का प्रसाद समझ सर्व प्रथम उसे ही अर्पित कर, उसके प्रति कृतज्ञता करनी चाहिए | यह एक प्रकार का मानवीय सद्गुण है |

why-offer-food-god

एक बहुत ही रोचक कथा है – एक समय की बात है कि एक गाँव में एक परिवार रहता था | उस परिवार के मुखिया के दो पुत्र थे जिनका नाम सोहन और मोहन था | एक बार जब उनके गाँव के निकट मेला लगा तो उन्होंने वहा जाने के लिए अपने पिता से आग्रह किया | उनके पिता ने उनका आग्रह स्वीकार कर लिया और उन्हें कुछ पैसे भी दिए | जब दोनों भाई सोहन और मोहन मेले में पहुंचे तो सोहन ने पिता के द्वारा दिए पैसों से मिठाई खरीदी और वहीँ खागया | उसने मोहन से पूछा भी नहीं |

आगे क्या हुआ जानने के लिए नीचे नेक्स्ट बटन पर क्लिक करें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here