माँ दुर्गा के नौ रूपों से हम क्या सीख सकते हैं: जीवन धन्य हो जाएगा

0
1524

 

कुष्मांडा माता:

navratri-2017-kushmanda

क्रोध पर नियंत्रण कैसे किया जाए यह कुष्मांडा माता से अच्छा कोई भी नहीं सिखा सकता. अत्यधिक क्रोधी व्यक्ति को कुष्मांडा माता की आराधना करके अपने क्रोश पर नियंत्रण रखने का वर मांगना चाहिए. हर शुभ काम के पहले कुष्मांडा माता का ध्यान अवश्य करना चाहिए.

 

 

स्कंद माता:

navratri-2017-skandamata

गरीब, असहाय और जरूरतमंद लोगों की मदद करना हमें स्कन्द माता सिखाती हैं. स्कन्द माता का पूजन करने से मनुष्य के अन्दर जरुरतमंदों की सेवा और सहायता करने का भाव उत्पन्न होता है. इनका पूजन करने से मनुष्य के जीवन में सम्रद्धि आती है.

 

 

कात्यायनी माता:

navratri-2017-katyayai

जीवन में अच्छा सामंजस्य चाहते हैं तो कात्यायनी माता का पूजन करें. सामंजस्य का अर्थ है की जीवन में कोई बाधा और रूकावट न आये. घर के सभी लोगों में प्यार बना रहे. ऐसे में अगर घर में क्लेश यानि लड़ाई झगडा हो रहा हो तो माता का पूजन शांति इस्थापित करेगा. अगर किसी के विवाह में विलम्ब हो रहा हो तो भी माता कात्यायनी का पूजन सभी अडचने दूर करके जल्दी ही शिभ मुहूर्त बनेगा.

आगे पढने के लिए नेक्स्ट पर क्लिक करें….