क्या आप को पता है हथेली के तिल भी बता सकते है आप का भाग्य |

0
25309

६, शुक्र पर्वत

palmistry

तिल का शुक्र पर्वत में होना व्यक्ति को गुप्त रोग का शिकार बनाता है |व्यक्ति के वीर्य में दोष होने से या तो संतान होती ही नहीं है और यदि हुई है तो देर से होती है | व्यक्ति सेक्स में पत्नी व् प्रमिका से तिरस्कृत होता है | प्रेम में बदनामी मिलती है और पेशाब सम्बन्धी रोग होते है |

७, शनि पर्वत

palmistry

इस पर्वत का तिल एक्सीडेंट में चोट, हड्डी टूटना और पागलपन देता है | ऐसे व्यक्तियों को नसों, हड्डियों और कुल्हे के नीचे के रोग होते है | पैरों में हमेशा जलन व दर्द रहता है | नौकरी में जल्दी-जल्दी तबादला होता है या फिर व्यापार जल्दी-जल्दी बदलना पड़ता है और तेजी से स्थान परिवर्तन भी होता रहता है |

८, राहु पर्वत

palmistry

राहु पर्वत का तिल व्यक्ति को व्यक्ति को व्यर्थ में भटकाता एवं दुःख देता है | ऐसे व्यक्ति के पिता को चोरों से भय होता है | दुर्घटना या ऊंची जगह से गिर कर चोट लगने का खतरा सदा बना रहता है | मुक़दमे में हार से हानि होती है और ससुराल से संबंध मधुर नहीं रहते है |

९, केतु पर्वत

palmistry

केतु पर्वत में जिस व्यक्ति के तिल होता है वह बचपन में बीमार रहता है | संतान की चिंता और संतान को कष्ट बना रहता है | किसी किट-पतंगे या सर्प आदि से विष भय का डर सदा बना रहता है | कुत्ता काटने की भी संभावना रहती है | बिजली से खतरा रहता है |